What is Affiliate Marketing in Hindi – एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करे ?

What is Affiliate Marketing in Hindi – एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करे ?

जब भी affiliate marketing in Hindi के बारे में बात करतें हैं तो हमारा confusion बढ़ने लगता है इसलिए मैंने आपके लिए affiliate marketing in hindi में बनाया है। जिसको पढ़ने के बाद आपके doubts clear हो जायेंगे। 
 
रोज़ाना कम समय में लाखों कमाने का सपना कौन नहीं देखता हैं यदि हमे इसके बेहतरीन एवं सरल उपाय जिससे आप घर बैठे पैसा कमा सकतें हैं के बारे में पता चले तो कहना ही क्या है।
Affiliate Marketing Beginners Guide hindi !
Affiliate Marketing करने के लिए आपके पास एक वेबसाइट या ब्लॉग होना चाहिए। जिसके जरिये आप किसी भी कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में रिव्यु या आर्टिकल लिख कर यूजर को इनफार्मेशन देते है और फिर उस प्रोडक्ट को affiliate link के जरिये रेकमेंड करते हैं। इस affiliate link से अगर यूजर दिए गए प्रोडक्ट को खरीदता है तो बदले में आपको एक निर्धारित कमीशन मिलता है। इस प्रकार आप affiliate marketing in Hindi करने के लिए आप अनेको प्रोडक्ट को प्रमोट करते हैं और ज़्यादा से ज़्यादा कमीशन कमाते हैं।
आज मैं आपको affiliate marketing se paise kamaye जाने के तरीकों पर बात करूँगा और मेरी कोशिश हमेशा यही रहती है की ज़्यादा से ज़्यादा सरल भाषा में हो। जिससे आपको जल्दी समझ में आये। 
Affiliate Marketing in Hindi !
Affiliate Marketing in Hindi क्या है और क्या affiliate marketing se paise kamaye jaate hai और इससे पैसे कमाना कितना सरल है ? इससे पहले मैं आपको यह समझाऊं आप पहले इसकी छोटी सी डेफिनिशन को समझ लें। 

Affiliate Marketing में सबसे पहले किसी प्रोडक्ट को अपनी पसंद के अनुसार चुनकर ऑनलाइन माध्यम के जरिये प्रोडक्ट को प्रमोट या फिर प्रोडक्ट सेल करने की जरुरत होती है और यह प्रोडक्ट किसी कंपनी अथवा अन्य इंडिविजुअल पर्सन का भी हो सकता है। जब यह ऑनलाइन माध्यम किसी प्रोडक्ट को सेल या प्रमोट करतें हैं तो उस प्रोडक्ट का एक निश्चित कमीशन मिलता है। 

हम भारतीय हमेशा से सोचतें रहतें हैं की हमारी एक passive or regular income sources हो जिसमे एक बार मेहनत करनी पढ़े और उसका मीठा फल लगातार बार बार मिलता रहे तो और इसको ज़्यादा से ज़्यादा बड़ा किया जा सके। affiliate marketing बिल्कुल वैसा ही है जैसे आप सोच रहे हों या कहीं अन्य कामों में बिजी हों और आपकी affiliate automatic income बन रही हो। समझने के लिए आप यह आर्टिकल पूरा पढ़ें। 



Affilliate Marketing Kya hai ?

Affiliate Marketing में Online retailer एक Affiliate referral URL के माध्यम से अपने प्रोडक्ट के लिए सेल्स जेनेरेट करता है और यह referral url अन्य बाहरी वेबसाइट के द्वारा ट्रैफिक सेल्स जेनेरेट करने के लिए होता है। इस तरह affiliate marketing company बाहरी वेबसाइट को  ट्रैफिक सेल्स जेनेरेट करने के लिए एक निश्चित कमीशन का भुगतान करतीं हैं। 

इसका मतलब बहुत सीधा सा है की affiliate marketing in Hindi सबसे ज़्यादा popular और powerfull online tool है जिसमें बहुत लोग अनेको माध्यम से ऑनलाइन पैसा कमातें हैं। इसके अलावा बहुत लोग इसको अपना करियर बनाकर ऑनलाइन के जरिये काम करके हज़ारों एवं लाखों कमा रहें। अगर आप इसको Establishment करते हो तो यह आपके लिए एक “Passive Income Generate” करने लगता है और आप इस तरह कहीं भी बिजी हों आपकी इनकम बनती रहती है।

 
Affiliate Marketing Business Model – बिज़नेस मॉडल

 

यह एक तरह की online marketing strategy है जिसमे कंपनी अपने product के लिए business model अपनाती है। आपने देखा होगा eCommerce company अपने visitor या अपनी sales income बढ़ाने के लिए advertisement करती हैं यह कई तरीके से होता है और जिस भी website से reader या visitor इनके online store से कुछ भी purchase करता है आपको उसका commission मिल जाता है।
 
affiliate marketing kaise start kare

Affiliate Marketing कैसे शुरू करे?
Affiliate marketing in Hindi आपको ऑनलाइन पैसा कमाने के मौके को देती है जिसको आप घर बैठे या कहीं से भी काम करके पैसे कमा सकतें हैं। इसमें आप किसी  भी company के product को sale करके एक निश्चित commission को कमातें हैं। आप affiliate बनकर किसी भी company के product अथवा service को घर बैठे आराम से sale कर पातें हैं।

Affiliate marketing in Hindi को शुरू करने के लिए कुछ बातों का समझना जरुरी है जिससे आप affiliate marketer बन सकतें हैं। 


Affiliate कैसे बने !

क्योंकि आप किसी product या service को लोगों तक online के माध्यम से अलग अलग तरीकों से promote और उसको sale करतें हैं इसलिए आप को affiliate कहा जाता है। affiliate बनने के लिए कुछ important बातों का ध्यान में रखना बहुत जरुरी है। 
 
1. Sale product or services – आप जिस product या services के बारे में जानते हो उसी को sale या promote करें। क्योंकि आप उस product को अपने visitors के लिए रख रहें हैं इसलिए जितनी ज़्यादा जानकारी होगी। Visitor आपके product review पर खरीदेंगे।
इसके लिए सबसे आसान और सरल तरीका है की आप किसी product category के सबसे निम्नतम product को pick करें।  जिसको हम लोग niche भी कहतें हैं। इसके लिए selected product or services और define buyers होतें हैं।
2. Develop a Website related to niche – आप affiliate बनने से पहले थोड़ा Google research और product review को पढ़ें जिससे आपके product के लिए बन रहे question और उसके उत्तर ज़्यादा अच्छे तरीके से मिलेंगे।
क्योंकि अधिकतर कंपनी आपको affiliate बनाने से पहले आपकी website url को मांगती है जिसके द्वारा आप उनके product अथवा services को बताओगे। यह सब आपके content writing पर depend करता है की आप किसी company product को किस तरह present करतें हैं और कई company यह चेक भी करती है की आप उनके reputation को ख़राब तो नहीं कर रहें हैं।
 
3. Research Affiliate Company – आप Google search की मदद से अच्छी company के affiliate program को join कर सकतें हैं और उनके niche product category को promote कर सकतें हैं। 
Affiliate Marketing कैसे करते हैं ?
आप Affiliate programs को join करने से पहले affiliate company और affiliate brand को जरूर समझें और अध्यन करें। इनके terms & condition को अच्छी तरह जरूर पढ़ें जिससे आपको फ्यूचर में कोई परेशानी नहीं हो।
 
सभी affiliate company एक प्रकार के affiliate tracking link के माध्यम से आपके द्वारा business करती हैं और यह बहुत अच्छा तरीका भी जिसमे आप के द्वारा जो product affiliate होता है उसका commission दिया जाता है। affiliate marketing कैसे काम करती है और इसमें किस आधार पर पेआउट का आदान प्रदान होता है समझतें हैं।   
 
Pay Per Click (PPC): यह किसी product को sale करने का top level तरीका है जिसमे affiliate link को click के आधार पर count किया जाता है और जितने भी visitor आपके website से refer होतें हैं उतना आपको पैसा मिलता है। 
 
Pay Per Sale (PPS): इसमें कोई भी visitor आपकी website से refer होता है कुछ भी affiliate website पर purchase करता है तो उसका commission आपको मिलता है। 
 
Pay Per Lead (PPL): यह भी तरीका use किया जाता है जिसमे आपकी website से visitor refer करके affiliate website पर अपने contact information को देता है तो आपको उसका पैसा मिलता है।    
Affiliate करते समय यह जरूर सुनिश्चित कर लें की paymeny terms & condition क्या है। कोशिश करें की किसी विश्वशनीय ब्रांड के साथ जुड़े जिस पर आपको बेवजह मेहनत नहीं करनी पड़े। 
 
Affiliate Amrketing Website kaise kam karti hai!
 
Online पर बहुत ज़्यादा affiliate marketing website मिल जाएँगी। अनेको प्रकार के product या services के लिए अधिकांश company हैं जिनसे आप signup कर सकतें हैं। मैं आपको उनमे से कुछ प्रमुख और branded companies के बारे में बताऊंगा जिन पर आप join करके पैसे कमा सकतें हैं। 
 

Best Affiliate Marketing Website

ClickBank:

यह बहुत बढियाँ affiliate marketing website है इस पर आप signup करके अनेको प्रोडक्ट की अपने इंटरेस्ट के हिसाब से सिलेक्शन कर सकतें हैं। अभी तक affiliate marketing में आपको सबसे अच्छा payout देने वाली affiliate marketing website है।

URL: www.clickbank.com

Amazon Associate: इसको तो आप अच्छी तरह जानते ही होंगे। यह एक इंटरनेशनल ब्रांड है और इसके प्रोडक्ट को आप amazon affiliate program की मदद से ज्वाइन कर सकतें हैं। अपने इंटरेस्ट के प्रोडक्ट को सेलेक्ट करके आप selling कर सकतें हैं। 
ShareAShale: यह भी बढियाँ affiliate marketing website है shareasale affiliate program में signup करके आप join कर सकतें हैं और पैसे कमा सकतें हैं। 
Commission Junction: यह ब्रांड affiliate करने वालों की लिस्ट में शुमार है इसको आप cj के नाम से सर्च कर सकतें हैं और आप cj affiliate program में signup करके ज्वाइन कर सकतें हैं। 
URL : https://cj.com   

Affiliate Marketing se paise kaise kamaye !
Affiliate marketing में जब आप पैसे कमाने की सोचतें हैं तो सबसे बड़ा confusion होता है की हम इसको शुरू कैसे करेंगे और पैसे कैसे कमाएंगे।
आपका यह परेशानी मैं पूरी तरह ख़त्म करने की कोशिश करूँगा जिससे आप affiliate marketing को और अच्छी तरह कर पाएं।
सबसे पहले जो आपने website बनायीं है उसमे आप quality content writing से अपने reader को सही जानकारी उपलब्ध कराएं और यह सब direct product sale नहीं करें जैसे सीधे सीधे आपने product के बारे में बताना शुरू कर दिया। क्योंकि आपका reader product के बारे में शायद जानता है यह मान कर चले। आप जानकारी के product category niche content बनायें और फिर product को recommend करें।
जिस affiliate marketing company से join करतें हैं वहां से आपको एक affiliate link मिलता है उसको अपने content के साथ link करें जिससे वह उस product को direct देखेगा और पसंद आने पर खरीद भी लेगा। 
Trending Affiliate Marketing kya hai

आप heading से समझ ही गए होंगे की trending affiliate marketing kya hai, तो आपको latest product pick करना पड़ेगा जो की market trend में हो लोग उस product को सबसे ज़्यादा search कर रहें हो और यह सब आप Google Trend में पता कर सकतें हैं। 
 
इसमें भी कई segment होते हैं जैसे low price range product affiliate marketing से high price range product affiliate marketing के लिए जा सकतें हैं।

अपने niche product category को select करके आप sale कर सकतें हैं। 

Low traffic affiliate marketing

जैसा की मैंने ऊपर वाले heading में बताया है की आप product range select करके भी affiliate marketing कर सकतें हैं। उसी तरह आपको niche product या service category को select करते वक़्त उसका web traffic चेक कर सकतें हैं। 
 
जिसके लिए आप free seo tools का सहारा लेते हैं और अगर आपके पास google adwords है तो उसके keyword planner की मदद से low traffic keyword देख सकतें हैं क्योंकि बड़ी websites के traffic और marketing strategies अलग तरह की होती है और उनमे बहुत ज़्यादा competetion होता है इसलिए आप low traffic keyword पर affiliate promote करें इससे आपके product को जल्दी rank और limited specific buyer जरूर मिलते हैं। 
Affiliate Marketing terms & condition kya hoti hai !
Online पर बहुत लोग affiliate programs join करतें हैं लेकिन कोई भी इनकी terms & condition को नहीं देखता। क्योंकि आप किसी affiliate websites के द्वारा काम करतें हैं इसलिए affiliate terms and condition और ज़्यादा important हो जाती है।
आप यह जरूर पढ़ें की marketing terms & condition kya hai, आप जब affiliate करतें हैं तो आप को क्या नहीं करना है जिससे आपके payout पर या affiliate पर कोई दिक्कत हो। 
 
Affiliate Marketing से लाखों कैसे कमाए !
अभी तक जितना भी आपने Affiliate marketing kya hai इसके बारे में पढ़ा है। यह तो पता लग गया होगा की आप affiliate marketing in Hindi से कैसे इनकम करतें हैं, पर क्या आप एक passive income की अभी भी सोच रहें हैं ?
 
ऐसी income जिसमें आपकी मेहनत एक बार हो और profit बार बार होती रहे और आप ज़्यादा से ज़्यादा पैसे कमा पाओ। यह थोड़ा मुश्किल है लेकिन नामुनकिन नहीं है तो आइये उसको भी समझतें हैं।
  • अच्छे प्रोडक्ट को सेलेक्ट करें 
  • अट्रैक्टिव प्रोडक्ट को पिक करें 
  • ट्रैफिक सोर्स को जेनेरेट करें 
  • Google Adwords के माध्यम से अलग अलग वेबसाइट पर अपनी पहुँच बनायें 
  • Facebook Ad की मदद से सोशल मीडिया में प्रोडक्ट की पहुँच बनायें 
  • अपने प्रोडक्ट को एफिलिएट करने के अट्रैक्टिव टारगेट ऑडियंस के लिए फोकस करें 
  • अपनी एफिलिएट प्रोडक्ट परफॉरमेंस को चेक करें और बदलाव भी करें 
  • मार्किट नीड्स को समझने के लिए प्रॉपर रिसर्च करें 
  • अपने यूनिक और इनोवेटिव आईडिया को इस्तेमाल करें 
  • अपने यूजर टारगेट को अचीव करने के लिए सही ट्रैफिक वाली वेबसाइट का चुनाव करें 
  • अपने कैंपेन को affiance बनाये 
  • अलग अलग मार्केटिंग कैंपेन टूल्स का इस्तेमाल करें।     
How to make passive income from affiliate marketing ?
Online पर जब आप affiliate market करने के लिए कदम रखतें हैं तो आपको अच्छा और healthy competition देखने को मिलता है लेकिन आपको बिल्कुल घबराना नहीं है थोड़ा धैर्य रखिये और अपने blog websites पर कुछ बातों पर अमल करें। 
  • क्वालिटी कंटेंट को पोस्ट करतें रहें 
  • वेबसाइट रैंकिंग पर काम करें 
  • ऑनलाइन फ़ोरम्स को ज्वाइन करें 
  • ऑनलाइन वेबिनार और इवेंट को ज्वाइन करें 
  • सेमिनार समिट में जाये 
  • कुछ पुराने ब्लॉगर से मिलें
  • अपना विजिटिंग कार्ड ज़्यादा से ज़्यादा फ्लोट करें 
Affiliate marketing video
आप किसी भी affiliate product या service का video बनाकर लोगो तक पहुंचा सकतें हैं जिससे आपके यूजर attract हों और आपका product बिक सके। इसके अलावा आप प्रमोशनल वीडियो भी बना सकतें हैं। आप affiliate media kit भी बना सकतें हैं। 
Affiliate marketing training ?
आप affiliate marketing training kit बना सकतें हैं और अपने website या affiliate marketing tool के माध्यम से अपने user को बता सकतें हैं जिससे user की information collect हो सकती है। 
Affiliate Programs को join करने पर आपको affiliate training kit भी मिलती है जिसको पढ़कर आप यह समझ सकतें हैं की आपको किस तरह product को affiliate करना है। 
Affiliate marketing niche topic kaise choose karen ?
आपको जैसा की मैंने पहले भी बताया है की एक nich product को choose करें पर यह होता कैसे है उदाहरण के लिए मानिये आप garments में affiliate करना चाहतें हैं तो उसकी केटेगरी में आपको ladies, gents and kids मिलेगा अब इसमें से आप जेंट्स को देखेंगे अब jeans for men को करतें हैं अब जीन्स में भी सिर्फ कोई brand या varietyको पकड़ लें और उस पर काम करें।  इस तरह आपका nich product ready हो जाता है। 
   
Affiliate marketing with Amazon  ?
मैंने ऊपर के कंटेंट में बताया है आप affiliate marketing amazon को join करके उसके product को sale करेंगे जिसके लिए आप तरह तरह से affiliate marketing कर सकतें हैं और पैसे कमा पातें हैं। इसके लिए आपको दिए गए लिंक पर क्लिक करना है। 
Affiliate marketing  उपयोग होने वाले key words

अभी तक आपने जो भी पढ़ा वह सब affiliate marketing in Hindi कैसे करे या फिर उनके तरीकों के बारे में जाना है अब आपको एफिलिएट मार्केटिंग में यूज़ होने वाले वर्ड्स को देखना है और उनका क्या उपयोग है ? 

Affiliate: इसमें आप किसी एफिलिएट मार्केटिंग कपनी को ज्वाइन करके अपने वेबसाइट या ब्लॉग के माध्यम से किसी प्रोडक्ट को विजिटर के लिए प्रमोट करतें है। 
 
Affiliate Marketplace: इसको आप एफिलिएट नेटवर्क भी कह सकतें हैं और यहाँ आपको अनेकों एफिलिएट कंपनी के प्रोडक्ट को सेल करने के लिए आपको एफिलिएट प्रोग्राम ऑफर करतीं हैं। 
 
Affiliate ID: एफिलिएट प्रोग्राम में किसी कंपनी को जब आप signup करते हो तो वह कंपनी आपको एक आई डी जेनेरेट करती है जिससे आपका रजिस्ट्रेशन कम्पलीट माना जाता है। जिसे एफिलिएट आई डी कहतें हैं। यह आपके लिए हर तरीके से उपयोगी होता है जो की नीचे दिए गए हैं। 
 
Affiliate Link: इसमें आपको प्रोडक्ट का एक कोड मिलता है जो की एक यूआरएल होता है जिसको आप अपनी वेबसाइट पर लगाते हो और इसके माध्यम से विजिटर रेफेर होकर एफिलिएट वेबसाइट पर जाता है और खरीददारी करने पर इसी link से ट्रैक कर लिया जाता है और वह सेल्स आप में जोड़ दी जाती है। 
 
Affiliate Commission: जब आपका कमीशन जेनेरेट होता है तो आपकी affiliate link और ID पर आधारित होता है जिससे आपको एक ट्रांस्पेरासी मिलती है। प्रत्येक प्रोडक्ट के लिए अलग अलग कमिशन होता है जो सेल्स होने के बाद तय अनुसार आपको मिलता है।  
 
Affiliate Link Clocking: यह भी एक यूआरएल होता है लेकिन बड़ा होता है। जिसको यूआरएल शॉर्टनर  मदद से छोटा जा सकता है। 
 
URL Shortner: इसका उपयोग किसी बड़े यूआरएल को छोटा करने के लिए किया एवं यूआरएल की आइडेंटिफिकेशन को सिक्योर्ड करने के लिए करतें हैं। यह यूआरएल को अत्यधिक छोटा कर  देता है। 
 
Affiliate Manager: यह affiliates की मदद के लिए होतें हैं जिससे आपकी कोई एफिलिएट प्रोग्राम सम्बंधित समस्या का समाधान हो सके। एफिलिएट मैनेजर की नियुक्ति एफिलिएट प्रोग्राम्स के द्वारा की जाती है। 
 
Payment Mode: इसमें आपको पैसे को  अकाउंट में लेने के लिए कुछ ऑप्शन दिए जातें हैं जैसे cheque, wire transfer, paypal इत्यादि हैं। इनमे से कोई भी जो आपके पास हो उसे सबमिट कर दें और पैसे आपके अकाउंट में आ जायेंगे। 
  
Payment Threshold: इसमें एफिलिएट प्रोग्राम्स आपकी शुरूआती कुछ राशि पहले सेल के लिए तय करतें हैं और जब यह न्यूनतम राशि अचीव हो जाती है तो आपको सब पेआउट दे दिया जाता है। यह न्यूनतम रोकने वाली राशि को ही पेमेंट थ्रेसहोल्ड कहतें हैं। 
The Do’s and Don’t of Affiliate Marketing !
 
इसमें जब आप नए या इंटरमीडिएटर लेवल पर होतें हैं तो सबसे ज़्यादा गलती करतें हैं इसलिए मैंने कुछ पॉइंट्स में आपको बताना चाहता हूँ और यह आपके लिए बहुत ज़रूरी है। 
 
अगर आप Affiliate Marketing in Hindi में यह जान जाते हो की आपको क्या करना है और क्या नहीं करना है तो आप एफिलिएट मार्केटिंग को सफल बनाने में कुछ कदम और आगे बढ़ जातें हैं।
  • आपको जिस प्रोडक्ट और सर्विस की जानकारी हो उसी को चुने 
  • अपने डिस्क्लेमर पेज को वेबसाइट पर ज़रूर डालें 
  • आप एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करने के बाद उसके लिंक को इस्तेमाल ज़रूर करें नहीं तो कोई फायदा  अनुभव दोनों नहीं मिलेंगे 
  • अपने वेबसाइट पर लगाए सभी लिंक को ट्रैक ज़रूर करें 
  • किसी भी लिंक या बैनर का ओवर टाइम यूज़ नहीं करें। 
  • अपने वेबसाइट की nich के अलावा अन्य किसी तरह का प्रोडक्ट बैनर नहीं लगाएं 
  • अपनी वेबसाइट पर एफिलिएट प्रोग्राम्स के द्वारा दिए गए कोड का इस्तेमाल बिना डरे करें इससे आपका कोई नुकसान नहीं होगा। 
  • अत्यधिक बैनर या popup को नहीं लगाएं 
  • लिंक को सही और रेलेवेंट जगह पर लगाएं
Social Media Traffic 
आज के समय में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए बिल्कुल सही जगह है लेकिन इसको बहुत सावधानी से उपयोग करेंगे तो आपके बहुत फायदेमंद हो सकता है क्योंकि सोशल मीडिया पर आप किसी का डायरेक्ट प्रचार नहीं देखतें नहीं तो एफिलिएट की ज़रूरत क्यों पड़ती। 
 
इसलिए सोशल मीडिया पर Affiliate marketing in Hindi करने के कुछ पॉइंट्स आपको बताता हूँ जिससे आप यह सब बड़ी आसानी से कर पाएंगे और आपका सोशल मीडिया अकाउंट बंद भी नहीं होगा बल्कि और ज़्यादा बढ़ेगा। 
  • Affiliate link को redirect करें
  • Quality content पर फोकस करें 
  • अपने कंटेंट को पोस्ट करें 
  • किसी भी प्रोडक्ट इमेज पर लिंक जरूर लगाए
  • अपने एफिलिएट लिंक को यूआरएल शॉर्टनर की  छोटा करके लगाएं 
  • हमेशा high quality product को ही recommend करें
  • Affiliates Marketers के साथ अपने करें
  • हमेशा on board रहें जिससे आपके यूजर को आपकी प्रजेंस महसूस हो 
Use of Social Media Channel
आप अपने एफिलिएट प्रोडक्ट सोशल मीडिया चैनल के माध्यम से भी प्रमोट कर सकतें हैं क्योंकि यहां आपकी बिलियन यूजर की संख्या होती है इसलिए आपको पैसे कमाने के अवसर भी ज़्यादा होंगे।  
  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram
  • Whatsapp
  • Youtube
  • TikTok
Email Marketing
यह बहुत अच्छा साधन है जिसके द्वारा आप अपनी वेबसाइट और affiliate product दोनों को डायरेक्ट यूजर तक पहुंचा पाते हो अगर आप थोड़ा अट्रैक्टिव way में ईमेल मार्केटिंग करतें  हैं तो आप यहां से भी आपको यूजर मिल जाता है।
  
Paid Ad Network 
आप reputed और branded paid advertisement website का भी उपयोग कर सकतें हैं इससे आप product अत्यधिक लोगों तक पहुंचा पाएंगे और ज़्यादा लोगों तक पहुँचने के कारण आपको फायदा भी मिलेगा। आपको बस  होगा की आपके लिए कौन सी जगह उपयुक्त रहेगी। नीचे दिए best paid ad website हैं जहाँ आप को अच्छे खासे यूजर मिल जातें हैं। 
  • Google Adwords 
  • Fb Ad 
Conclusion
Affiliate Marketing Kya hai क्योंकि यह कोई छोटा विषय नहीं है इसलिए इसमें और ज़्यादा नॉलेज या इनफार्मेशन की आवश्यकता पड़ती है अगर आपको Affiliate marketing in Hindi के लिए कोई और टॉपिक पर आर्टिकल चाहिए तो सब्सक्राइब करें एवं कमेंट करके बताएं। 
आपने अपना बहुमूल्य समय इस आर्टिकल को पढ़ने में दिया इसके लिए मैं आपका आभार प्रकट करता हूँ। 


Leave a Reply