DM Kya hai? DM Full Form Hindi

DM Kya hai? DM Full Form Hindi

DM Kya Hai: DM Full Form जिलाधिकारी भारतीय प्रशासनिक सेवा का एक प्रमुख प्रशासनिक पद है। जिसे अंग्रेजी में DM या कलेक्टर के नाम से भी जाना जाता है। भारत के प्रत्येक जिले का एक अपना उपायुक्त होता है। DM का जो कार्य रहता है, वह कानून व्यवस्था को बनाए रखना है। DM जिस भी डिस्ट्रिक्ट में पोस्टेड है, उस डिस्ट्रिक्ट की वार्षिक रिपोर्ट की जाती है।

जैसे कि कोई भी घटना घट गई है। या फिर अपराध किए जा रहे हैं। उसकी एक रिपोर्ट तैयार करके सरकार को देना होता है।

पुलिस और जिलों का निरीक्षण करना और अधीनस्थ कार्यकारी मजिस्ट्रेट का परीक्षण करना, अपराध प्रक्रिया संहिता के निवारण खंड में संबंधित मुकदमों की सुनवाई करना, मृत्यु दण्ड के कानून को प्रमाणित करना आदि कार्य होते हैं।

What is DM Full Form in Hindi?

DM Full Form – “District Magistrate”

DM Full Form in Hindi – “जिला मजिस्ट्रेट”

इसे एक भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी भी कहा जा सकता है। क्योंकि या भारत के जिले के समान प्रशासन के सबसे वरिष्ठ कार्यकारी मजिस्ट्रेट को और प्रमुख होता है।

Read More: MBBS Kya hai? MBBS Full Form क्या है?

Read More: IAS Kya hai? IAS Full Form क्या है?

DM बनने के लिए तैयारी कैसे करें?

DM बनने के लिए उम्मीदवार को यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन अर्थात UPSC के तहत होने वाली CSI Exam अर्थात Civil Exam पास करना होता है। यह परीक्षा पास करने के बाद आप IAS अधिकारी बन जाएंगे।उसके कुछ दिन बाद एक या दो पदोन्नति के बाद IAS अधिकारी की जिले के DM बन जाते हैं।

यह पढ़ें – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं?

अब हम आपको DM बनने के तरीके से वाकिफ कराएंगे।

  • Graduation पूरा करें – DM बनने के लिए जो पहला स्टेप है, वह ग्रेजुएशन पूरा करना है। आप किसी भी विषय से ग्रेजुएशन की डिग्री लेकर परीक्षा दे सकते हैं। आप उसी विषय से ग्रेजुएशन करें जिसमें आपको अच्छा ज्ञान हो। वैसे जानकारों का मानना है कि बीए सबसे उपयुक्त रहता है।
  • Prelims Exam पास करें – यह परीक्षा का पहला चरण होता है। इसमें 200 – 200 नंबर के 2 एग्जाम होते हैं। दोनों एग्जाम 2-2 घंटे के होते हैं। इस एग्जाम को पास करने के लिए कम से कम 33% अंक चाहिए।
  • Mains Exam क्लियर करें – जब आप Prelims Exam निकाल लेंगे तो आपका अगला टारगेट होगा Mains exam। क्योंकि यह भारत की सबसे मुश्किल परीक्षा कही जाती है। आप की तैयारी भी ठीक उसी प्रकार की होनी चाहिए। क्योंकि इसका सिलेबस थोड़ा लंबा है। और इसमें बदलाव होते रहते हैं। तो हम आपको मशवरा देंगे कि आप अधिकारी वेबसाइट से जानकारी लें।
  • अब इंटरव्यू निकाले – अब आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा इंटरव्यू कुल 275 मार्क्स के होंगे।

DM बनने की योग्यता क्या होनी चाहिए?

DM बनने की योग्यता इस प्रकार से हैं;

  • आप अपना ग्रेजुएशन किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से करें।
  • आपकी minimum 21 years age (1Aug se) होनी चाहिए।
  • जनरल कैटेगरी वाले स्टूडेंट के लिए age limit-37 years होनी चाहिए।
  • Age limit for Jammu & Kashmir candidate for -37 years.
  • Age limit for blind/deafmute orthopedically handicapped persons (general category): 42 years.

DM Training कैसे होती है?

फाउंडेशन कोर्स 3 महीने- इस पीरियड में आपको IPS & IAFS के साथ 3 महीने तक LABSANA Full FormLal Bahadur Shastri National Academy of Administration (लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन) में गुजारना होता है। यह आपको LAWS से लेकर एडमिनिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी दी जाती है। फाउंडेशन कोर्स में स्पोर्ट्स कल्चरल एक्टिविटी भी होती है।

भारत दर्शन- फाउंडेशन कोर्स कंप्लीट होने के बाद भारत दर्शन होता है। जिसमें 9 – 10 राज्य घूमने का मौका मिलता है। इस पीरियड में आपको कई मिनिस्ट्री ग्रुप से मिलने का मौका मिलता है।

फेज 1- भारत दर्शन कंप्लीट होने के बाद फिर से लबसना में आते हैं यहां पर उनको जॉब्स से जुड़ी जानकारी दी जाती है। इस पीरियड में हॉर्स राइडिंग, कुकिंग, क्रिकेट, फुटबॉल जैसे प्रोग्राम भी होते हैं।

Induction- और जब सब कंप्लीट हो जाता है, तो टाइम आता है जॉइनिंग का, इस पीरियड में राष्ट्रपति भवन का भी टूर होता है। और फिर माननीय राष्ट्रपति जी सब को जॉइनिंग लेटर देते हैं। और फिर वह लोग डीएम बन जाते हैं।

IAS से DM बनने में कितना समय लगता है?

SDM से IAS बनने में 6 से 8 वर्ष का समय लगता है।

अगर आप DM full form (District Magistrate) बनना चाहते हैं, तो पहले आपको अपना ग्रेजुएशन पूरा करना होगा। उसके बाद 2 से 3 साल तक यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करनी होगी।

जब IAS के लिए नोटिफिकेशन जारी होगा, तब आपको IAS का फॉर्म भरना होगा। जानकारी के लिए आपको बता दें कि हर साल जनवरी महीने तक IAS का नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाता है। इच्छुक आवेदक मार्च महीने तक IAS के लिए आवेदन कर सकते हैं।

उसके बाद शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को IAS परीक्षा के प्रथम चरण यानी प्रीलिम्स एक्जाम मे लिए बुलाया जाता है।जो उम्मीदवार इस एग्जाम में पास होते हैं, उन्हें IAS के द्वितीय चरण यानी मेंस एग्जाम के लिए बुलाया जाता है।

जो उम्मीदवार इस परीक्षा में पास होते हैं, उन्हें IAS के तृतीय चरण यानी इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। और जो उम्मीदवार इस इंटरव्यू में पास होते हैं, उनकी एक मेरिट सूची बनाई जाती है।

बता दें कि इस मेरिट सूची में उन छात्रों के नाम शामिल किए जाते हैं, जो मैंस एग्जाम और इंटरव्यू में अच्छी रैंक हासिल करते हैं। फिर उसके बाद मेरिट सूची में शामिल छात्रों को IAS अधिकारी के रूप में नियुक्त किया जाता है।

Conclusion

अभी तक आपने DM Kya hai, DM Full Form, DM Exam & Preparation, DM Full Form Hindi के बारे में समझा है। उम्मीद करता हूँ यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा होगा। अन्य लोगो को शेयर करें।

Read More: All Full Form List

Leave a Reply