Seo kya hai hindi tutorial guide step by step 2020 – SEO बिगिनर गाइड 2020

Seo kya hai hindi tutorial guide step by step 2020 – SEO बिगिनर गाइड 2020




आज हम लोग SEO kya hai & Website Par Traffic Kaise Badhaye के बारे में अच्छी तरह से समझेंगे।


क्या आप जानतें हैं की ब्लॉग ट्रैफिक कैसे बढ़ाये और गूगल रैंकिंग कैसे पाए ? इस आर्टिकल में बहुत साधरण तरीके से मैंने आपके लिए पूरी seo beginner guide hindi में बनाई है, जिसको आप आसानी से समझ सकतें हैं। 
 
Blog वेबसाइट बनाने के बाद सबसे बड़ी परेशानी “Seo kya hai और website traffic kaise badhaye “ को लेकर होती है क्योंकि ब्लॉग वेबसाइट ऑनलाइन पर आपको ढेरों दिखाई पड़ती है और प्रत्येक दिन में हज़ारों एवं लाखों की संख्या में पोस्ट लिखी जाती हैं जिनको ऑनलाइन पर पब्लिश कर दी जाती हैं। 
 

लेकिन क्या आप जानतें हैं इन सभी पब्लिश की गयी आर्टिकल पोस्ट में से कौन सी पोस्ट गूगल सर्च में टॉप पेज पर आएगी ? 

 
आज मैं आपको seo kya hai और seo kaise karte hai इसी से सम्बंधित बात करने वाला हूँ और आपको seo से सम्बंधित सभी तरह के confusion को दूर करूँगा। यह आर्टिकल आपकी वेबसाइट के ट्रैफिक को बढ़ने में काफी मदद करने वाला है इसलिए आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 




 
यह सवाल प्रत्येक नए blogger के लिए या फिर किसी भी website के लिए होता है जिनको online पर अपनी presence बनाने के लिए परेशान रहतें हैं और काफी प्रयासों के बावजूद वह top rank page पर आना एक सपना जैसा होता है और मान भी लिया जाय की आप टॉप पेज पर किसी तरह से आ भी गए लेकिन उसको मेन्टेन करने या टॉप पेज पर बनाये रखने के लिए और भी  ज़्यादा मशक्कत होती है। 
 
क्योंकि यहाँ competition बहुत होता है इसलिए यह उतना आसान नहीं होता है। हममे से प्रत्येक ब्लॉगर टॉप पेज रैंक पाने के लिए अच्छे से अच्छा आर्टिकल लिखकर पब्लिश करतें है, लेकिन क्या ऐसा संभव है की यह आर्टिकल पोस्ट गूगल रैंक में आ जाये। 

About SEO ! SEO के बारे में !

SEO का फुलफॉर्म search engine optimization होता है। और यह करीब 90’s के दशक में प्रयोग में लाया गया था। उस समय इंटरनेट का शुरूआती दौर था जब कुछ ही वेबसाइट ऑनलाइन पर मौजूद थी। हम इसको आज की तुलना में बहुत कम संख्यां में मान सकतें हैं। हालाँकि उस समय seo को परिभाषित नहीं किया गया था। 
 
जब search engine का development हुआ था उस समय किसी web page content को index करना आसान था और online user को website के starting page से लेकर उसके सभी navigate page को भी index कर दिया जाता था और यह वेब ट्रैफिक का मुख्य श्रोत होता था।
धीरे धीरे search engine developers को लगने लगा की website result page को और ज़्यादा सही तरीके से user के लिए किया जाय जिससे उसको ज़्यादा और अलग web page को भी देखने का मौका मिले और इस तरह search engine result page (SERP) को अस्तित्व में लाया गया क्योंकि उसके बाद traffic की multiplication को समझते हुए इसको बेहतर करने की तरफ काम होता रहा और SEO science वजूद में आया जो अभी तक अच्छे परिणाम के लिए और ज़्यादा स्मार्ट हो रहा है।   
  
 
Search Engine Optimization (seo) किसी भी सर्च इंजन में आपकी web page rank करने के लिए किया जाता है। यह पूरी तरह से अलग प्रकार का कांसेप्ट है जिसकी मदद से वेबसाइट को गूगल रैंक कराई जाती है। seo किसी भी beginner blogger के लिए एक secret की तरह होता है क्योंकि गूगल algorithms में नए नए अपडेट आते रहतें हैं जिससे यह seo secrets लगभग बना रहता है।
सर्च इंजन में किसी web page को rank करने के लिए Google algorithms के प्लेटफॉर्म को अच्छी तरह से जानना जरुरी होता है। 
 
SEO क्या है और seo कैसे किया जाय ? यह सवाल हमेशा बना रहता है फिर चाहे आप beginner हों या फिर एक प्रोफेशनल डिजिटल मार्केटर। 

SEO kya hai – SEO क्या होता है ?

 Search engine optimization को शार्ट फॉर्म में seo कहतें हैं। यह seo किसी भी वेबसाइट के लिए ट्रैफिक को अनुकूल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह unpaid traffic होता है और search engine result page से आता है। जिसे कोई भी यूजर इंटरनेट पर सर्च इंजन के द्वारा किसी भी रिजल्ट को सर्च करने के लिए उपयोग करता है। इसकी वजह से किसी भी वेबसाइट या वेब पेज को एक organic traffic मिलता है जिससे वेबसाइट की quality और traffic दोनों में बढ़ोत्तरी होती है। 
 
अगर देखा जाय तो SEO आपके website design और उसमें मौजूद content के जरिये भी होता है। जिसमें कुछ थोड़ा बहुत बदलाव करके अर्थात website design coding के जरिये कुछ element को जोड़ कर किया जाता है। जिससे आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन में page number और topic पर रैंक करना चाहिए यह संभव हो पाता है।

क्योंकि किसी भी वेबसाइट को search engine ranking कराना हमारी प्राथमिकता होती है और इसी उम्मीद में हम अच्छे article post को publish करने के अलावा website को seo के लिए अधिक attractive बना पाते हैं। जिसकी वजह से website search engine result page में top rank में position बना पाती है। 
 
लेकिन यह भी सच है की seo में सिर्फ web page को Optimize करके rank नहीं करा सकतें हैं। SEO में अन्य बहुत से कारण होतें हैं जिनसे आपकी website ranking हो पाती है। किसी भी beginner के लिए seo एक जटिल प्रक्रिया की तरह होती है जिसे आप अगर थोड़ी सी कोशिश और धैर्य के साथ करें तो यह आपके काम को बहुत ज़्यादा सरल बना देती है। 

Search Engine Kya hai – सर्च इंजन क्या है ?

Search Engine वेब या internet पर यूज़ होने वाला एक web platform है जिसको एक software system की मदद से कुछ भी web result को देखने या पाने के लिए web search करतें हैं। यह web search को आदान प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया एक platform है और यह सब world wide web (www) को उन सभी जानकारी के लिए भेजता है। 
 
अन्य शब्दों में अगर कहा जाए तो किसी भी जानकारी को व्यवस्थित तरीके से सर्च करना जिसको हम search query या keyword के द्वारा लेते है। search engine के कुछ उदाहरण नीचे दिए गए हैं।
seo kya hai

Search Engine कैसे काम करता है ?



search engine खुद के बनाये हुए “Web Crawler” का उपयोग करता है और इस web crawler की मदद से इंटरनेट पर मौजूद सभी web pages को crawl करने का काम करता है। इन web crawler को हम लोग Search Engine Bot या Spider के नाम से भी जानतें हैं। 
 
यहाँ पर सर्च इंजन इंटरनेट पर मौजूद उन सभी web pages को download करता है और web पर भेजता है और इन pages में मौजूद link की मदद से नए web pages को search कर internet user के लिए available कराता है। 

Types of Search Engine –  सर्च इंजन के प्रकार

Search Engine मुख्य रूप से इंटरनेट को सर्च करने के लिए “Crawler” या “Spider” का उपयोग करतें हैं। यह सर्च इंजन मुख्य रूप से निम्न प्रकार के होतें हैं। 
  • Crawler Based Search Engines.
  • Directories Search Engines.
  • Hybrid Search Engines.
  • Meta Search Engines.

Search Engine Rank Kya Hai – सर्च इंजन रैंक क्या है?

किसी भी search engine result page में किसी भी website अथवा website के web page का स्थान कहाँ पर दिया गया है। इसको हम ऐसे भी समझ सकतें हैं की web page rank को search engine में position भी कहा जाता है और web page rank, ranking, position अथवा placing इन सभी शब्दों का इस्तेमाल SEO या SEM में किया जाता है। 




SERP kya hai – SERP क्या है ? 

SERP को मूल रूप से “search engine result page” के नाम से जानतें हैं। जब हम सर्च इंजन में कुछ भी कीवर्ड लगाकर सर्च करतें हैं तो हमें सर्च इंजन में कीवर्ड से रिलेटेड वेब पेज का रिजल्ट देता है। 
 
यह कीवर्ड वेबसाइट रैंकिंग के लिए यूज़ किया जाता है जिसको वेबसाइट के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन किया (SEO) जाता है। SEO और SERP दोनों ही webmaster concept के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।
 
आपने देखा होगा की कीवर्ड सर्च से सर्च इंजन में रैंक कर रहे वेब पेज लिस्ट को दिखाता है जिसमे वेबसाइट और वेब पेज लिंक होतें हैं यह टॉप पेज के पहले पायदान से लेकर ढेरों रिजल्ट को देता है। इस लिस्ट में आपको कुछ शार्ट डिस्क्रिप्शन मिलते हैं जिसमें प्रत्येक पेज के टाइटल और उसके लिंक को रखा जाता है। 
 
बहुत से सर्च इंजन रिजल्ट पेज में आपको डिफरेंट टाइप के लिस्ट को भी देखने को मिलता है जैसे Algorithms, Images, Context, Maps, Sponsored listing, definition, suggession search और organic search शामिल होता है।   

Type of SERP – SERP कितने प्रकार के होते हैं ?

  • Paid Search Result
  • Organic Search Result

Organic Search Result kya hai? 

जब आप किसी कीवर्ड को सर्च इंजन में डालकर देखतें है तो सर्च इंजन आपको search result page दिखाता है यह search result आपको दो तरीके से दिखाई पड़ता है। पहले सर्च में आपको paid search result page show होता है जबकि दूसरे result page के लिए आपको organic search result दिखाई पड़ता है। 
organic search result में आपको यूजर के द्वारा search query में web page listing या keyword से मिलता जुलता web पेज रिजल्ट दिखाई देता है, इस सर्च रिजल्ट को हम natural search result भी कहतें हैं। 
 
यह organic result ranking के आधार पर होता है जो आपके article post के quality content के base पर गूगल द्वारा decide किया जाता है जिसको हम लोग search engine optimization कहतें हैं। 
 
Organic search engine optimization (Organic SEO) पूरी तरह से unpaid होता है जो सबसे high ranking web page को search engine result page दिखाता है। यह सभी रिजल्ट गूगल अल्गोरिथ्म्स के द्वारा जाँच परख के सर्च रिजल्ट पेज में दिखाया जाता है। मुख्य रूप से Organic SEO ranking करने के लिए कुछ बेसिक concept हैं जिनकी मदद से Organic SEO को improve किया जाता है। 

 

  • अपने ranking keyword को Identify करना होता है। 
  • Keyword research को अच्छी तरह से जांचना चाहिए जिससे गूगल रैंक आसानी से हो सके 
  • वेब पेज में आर्टिकल को लिखतें समय on-page optimization को अच्छी तरह से किया जाय
  • Quality Content पर फोकस होकर आर्टिकल को लिखें 
  • वेब पेज अथॉरिटी को बढ़ाने के लिए High quality link reference का इस्तेमाल करें 
  • Content readership पर फोकस होकर लिखें जिसे आपका रीडर आसानी से समझ पाए
  • Blog content को regular पोस्ट करें
  • Long tail keyword का इस्तेमाल करें
  • Article page में link का जरूर इस्तेमाल करें
  • अपने रैंकिंग कीवर्ड पेज को लगातार मॉनिटर करतें रहें

Inorganic search result kya hai?

Inorganic search engine optimization (Inorganic Seo) को Non Organic Seo भी कहतें हैं और यह natural traffic बिल्कुल नहीं होता है इसका मतलब हम यह कह सकतें हैं की यह unpaid नहीं होता है बल्कि paid होता है और बहुत लोग इसका इस्तेमाल थोड़े समय के लिए करतें हैं जिससे वेबसाइट पर अचानक या थोड़े समय के लिए ट्रैफिक मिल जाता है। 
 
Non organic seo का उपयोग शुरूआती समय या फिर किसी specific web page पर जल्दी traffic लाने के लिए किया जाता है जिससे आपकी वेबसाइट का promotion और user engagement दोनों purpose solve हो जातें हैं लेकिन यह भी देखना जरुरी होता है की आपकी वेबसाइट का user interface इसके लिए अनुकूल है अथवा नहीं।

Types of Seo – Seo कितने प्रकार के होतें हैं ?

मुख्य रूप से seo तीन प्रकार से होते हैं। यह आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन में रैंक कराने में सबसे बड़े सहायक होतें है। सर्च इंजन अपने algorithms पर चलता है जिसको यह algorithms world wide web (www) से अच्छे और shortlisted result को देता है। 

 

  • On Page Seo
  • Off Page Seo
  • Local Seo

On Page Seo क्या है ?  

On-page seo को हम लोग On-site seo भी कहतें हैं। जब भी आप किसी वेबसाइट के code element में seo parameter के लिए जोड़तें है तो वह सब on page seo कहलाता है, यह सब हम keyword optimization की मदद से करतें हैं। जिसको हम लोग कंटेंट में इस्तेमाल करतें हैं और यह कंटेंट कीवर्ड को और बढियाँ तरीके से डिफाइन करता है या फिर ज़्यादा credibility बनाता है। जिसकी वजह से यह कीवर्ड रैंक हो पाता है और सर्च इंजन रिजल्ट पेज में वेब पेज रैंक करने लगतें हैं।

On-Page Seo कैसे करते है ? Full beginners guide step by step in Hindi

 

हम लोग जब भी कुछ सर्च करतें हैं तो अपने कीवर्ड को सर्च इंजन में टाइप करतें हैं और इस कीवर्ड से रिलेटेड सभी वेब पेज को SERP में दिखाने लगता है। on page seo में सबसे महत्वपूर्ण आपके वेबसाइट डिज़ाइन पेज को करना होता है इसके अलावा आर्टिकल कंटेंट को लिखते समय इसका ध्यान रखना होता है। जिसको हम लोग technical seo भी कहतें हैं। एक नज़र इसके मुख्य बिन्दुओ पर डालतें हैं। 




 

  • Relevent URL
  • Title Tag
  • Meta Tag
  • Heading
  • Alt Text
  • Image Optimization
  • Include Keyword
  • Internal Link of website
  • Outbound Links of other website
  • Long tail keyword
  • Quality Content

Off Page Seo क्या है ?

Off-page seo को हम off site seo भी कहतें हैं और यह पूरी तरह link पर आधारित होता है जैसा की आप heading से समझ ही गए होंगे। off page seo technique hindi में आप अपनी कंटेंट में लिंक को किसी अन्य बाहरी वेबसाइट के लिए करतें हैं। जिससे आपकी वेबसाइट का एक अच्छा रिलेशनशिप buildup होता है। 
 
इस तरह की off site technique का इस्तेमाल अपने वेबसाइट के page authority और domain authority की strength बनाने के लिए करते हैं जिससे website reputation develop होता है। जिसकी वजह से आपकी वेबसाइट सर्च इंजन में reliable और trusted sources के लिए मान ली जाती है।
 
इसमें हम लोग वेबसाइट के लिए backlink भी create करतें हैं और यह सब backlink हमारी वेबसाइट के लिए एक signal की तरह काम करतें हैं जिससे वेबसाइट को रैंक होने में काफी मदद मिल पाती है। यह लिंक normally हम लोग दो प्रकार से लेते हैं जो नीचे दिए गए हैं 
  • External Links
  • Internal Links
Link Building strategy
  • Natural Links:
  • Out Reach Links
  • Self Created Links

Local SEO क्या है और कैसे करते हैं ?

Local Seo का फुलफॉर्म Local Search Engine optimization होता है सामान्य तरीके से हम local Seo को Local Search Engine Marketing भी कहतें हैं। यह लोकल बिज़नेस को ऑनलाइन पर बहुत ही इफेक्टिव तरीके से उपयोग कर सकतें हैं जहाँ पर आप अपने बिज़नेस से सम्बंधित प्रोडक्ट एवं सर्विसेज को विस्तार करने के लिए local seo करतें हैं इसके द्वारा लोकल कस्टमर बड़ी आसानी से आप तक पहुँच सकता है।
Local Search के माध्यम से यह अत्यधिक अट्रैक्टिव बन जाता है और कस्टमर के लिए ऑनलाइन पर आपको देख पाना एवं आपकी सर्विसेज & प्रोडक्ट को खरीद पाना बहुत ज़्यादा आसान बना देता है। 

 

Local Seo का उपयोग ज़्यादातर छोटे, मध्यम साइज और मल्टी लोकेशन बिज़नेस को बढ़ावा मिलता है और लोकल कस्टमर को आपके बिज़नेस प्रोडक्ट या सर्विसेज को ज़्यादा आकर्षित करता है। 

Internet Marketing kya hai ?

बहुत लोग इस बात को समझ नहीं पातें हैं की इंटरनेट मार्केटिंग और seo दोनों अलग अलग होतें हैं इसलिए मैं आपको इसी आर्टिकल में यह बताना जरुरी समझता हूँ की  Internet marketing kya hai ?
Internet marketing या online marketing दोनों एक ही तरह के शब्द हैं क्योंकि आप यहाँ किसी प्रोडक्ट अथवा सर्विसेज की मार्केटिंग या एडवरटाइजिंग इंटरनेट या ऑनलाइन के माध्यम से करते हैं। हम वेबसाइट, ईमेल या इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स के जरिये इन सभी प्रोडक्ट और सर्विसेज को डायरेक्ट कस्टमर को सेल करतें हैं।
 
Digital Marketing kya hai ?




 
मैं आपको यह और ज़्यादा clear कर देना चाहता हूँ की Digital marketing के जरिये आप अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइन पर diffirent platform पर सेल करतें हैं और इसके लिए आप अन्य डिजिटल platform का भी उपयोग करतें हैं क्योंकि यह सब आप इंटरनेट पर करते हैं इसलिए Internet marketing भी कह सकतें हैं। इसलिए अब आप digital marketing और internet marketing में बिल्कुल confuse नहीं हों।   

Search Engine Marketing kya hai ? 

SEM (Search Engine Marketing) में आप paid search और social media का काम करतें हैं और यह Search engine optimization का ही पार्ट है। SEM का उपयोग ज़्यादातर brand awareness को बढ़ाने के लिए करतें हैं जिसमें आपको इंस्टेंट और सेलेक्टिव मापदंड के यूजर को आसानी से टारगेट कर पातें हैं। जैसे कुछ  उदाहरण के तौर पर बिंदु निम्नवार तरीके से दिए गएँ हैं।
  • Lead Generation 
  • Brand Promotion 
  • Awareness Program 
  • Users based Target audiance
  • Increase website traffic 

Keyword kya hai?

बहुत साधारण शब्दों में कीवर्ड को समझ सकतें हैं की search engine में टाइप की हुयी कोई भी search query को keyword कहतें हैं और यह keyword phrase दो या उससे भी अधिक शब्दों में टाइप किया जा सकता हैं। 

SEO tools kya hai ?

Seo tools आपकी वेबसाइट को optimize (अनुकूल बनाने) करने में और website traffic increase करने में आपकी काफी मदद करतें हैं जिससे आप वेबसाइट की statics & ranking दोनों पर अच्छी तरह से निगरानी रख पातें हैं जिसमें आपका बहुत ज़्यादा समय बर्बाद होने से बचता है। 

 

यहां मैं आपको कुछ जरुरी seo tools list के बारे में बताऊंगा। जिसकी वजह से seo करना आपके लिए आसान हो जाता है। यह seo list नीचे दी गयी है। 
  • UbberSuggest
  • Semrush 
  • Moz 
  • Keywordanywhere
  • Google Search Console
  • Ahref’s
  • Google’s Keyword planner
  • SeoQuake
  • XML Sitemaps
  • Similar Web

Ubbersuggest


यह seo tools सबसे ज़्यादा पॉपुलर है उसका सबसे बड़ा कारण digital marketer Niel Patel हैं। यह इन्ही के द्वारा संचालित किया जाता है। Ubersuggest सबसे ज़्यादा पॉपुलर Keyword research tools है। इसमें आपको बेहतर keyword ideas मिलते हैं जो की गूगल सर्च से काफी ज़्यादा करीबी रिजल्ट को देतें हैं। जिसकी मदद से आपको seo करने में आसानी हो जाती है।

free seo tools





Semrush


यह टूल्स भी सबसे ज़्यादा उपयोग में लाने वाला टूल है। इसमें आप keyword research, website seo audit, backlinks और keyword tracking strategy इत्यादि usefull तरीकों की मदद से अपने वेबसाइट के लिए अच्छा seo कर पातें हैं। Digital Marketer सबसे ज़्यादा SEMRush tool का उपयोग करतें हैं।

free seo tools

Moz


यह seo tool सबसे ज़्यादा power full seo tool है। यह आपकी website strength को show करता है जिससे यह पता लगाया जाता है की website page value और strength कैसी है। 
आप Moz tool की मदद से Domain Authority, Page Authority और Spam Score को चेक कर सकतें हैं। 

free web audit tool



Keyword everywhere


यह बहुत उपयोगी seo tool है। इसमें आपको keyword research के ऑप्शन साइड में दिखाई देतें हैं और किसी keyword पर कितने country level search यह भी देख सकतें हैं। जिसकी वजह से उस कीवर्ड के लिए seo करना बहुत आसान हो जाता है। 

free keyword research tool



Google Search Console


यह Google का most power full seo tool है, जिसकी मदद से आप अपने website performance को आसानी से monitor कर सकतें हैं। Google search console की मदद से site load issue, server error issue और security issue को resolve कर सकतें हैं।

free seo audit



AHrefs 


यह digital marketer का सबसे ज़्यादा popular seo tool है। AHREFS tool की मदद से URL ranking, Competitive analysis, preparing web audit report और backlink analysis इत्यादि को बड़े आसानी से उपयोग करतें हैं।

keyword research tools






Google Keyword Planner


यह सबसे ज़्यादा popular seo tool है क्योंकि यह गूगल का प्रोडक्ट है इसलिए यह digital marketer के द्वारा सबसे ज़्यादा यूज़ किया जाने वाला tool है। इसमें आप google ad बनातें है.
google keyword planner tool की मदद से location wise search data को आसानी से देखा जा सकता है। किसी भी कीवर्ड पर seo करने से पहले आप इसकी मदद ले सकतें हैं।

best seo tools



SeoQuake


यह भी सबसे ज़्यादा popular seo tool है। Digital marketer ज़्यादातर इसका इस्तेमाल browser extension bar में करतें हैं। यह बिल्कुल free plugin है। इसके जरिये organic research data को देख सकतें हैं इसके अलावा SEO Audit, Keyword Density report, Internal/External Link analysis और अन्य social matrics को भी देख सकतें हैं।

seo tools list

XML Sitemaps 


यह बहुत उपयोगी टूल है जिसकी मदद से गूगल आपकी वेबसाइट को सर्च कर पाता है और यह seo को improve करने के सबसे सही टूल है।

free seo tools



SimilarWeb


यह भी सबसे ज़्यादा उपयोग में लाया जाने वाला टूल है जिसकी मदद से आपकी वेबसाइट पर सर्च और यूजर एक्सपीरियंस को show करता है। यह एक तरीके web analytics की तरह काम करता है जिसमें वेबसाइट की traffic statics का पता लगाया जाता है। 

free seo tool


SEO करना क्यों जरुरी है ?  

इसमें कोई दो राय नहीं है की Seo से आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ता है और आपकी वेबसाइट सर्च इंजन रिजल्ट पेज में परफॉर्म करती है जिसकी वजह से आपकी वेबसाइट पर visitors आते रहतें हैं और वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ती है। 
अगर आपकी वेबसाइट में quality content होता है तो सर्च इंजन आपको रैंकिंग के जरिये रिवॉर्ड करता है जिसका फायदा आपको अधिक विजिटर पाने में मिलता है। ज़्यादा विजिटर होने पर आपकी वेबसाइट का ट्रस्ट लेवल बढ़ता है और आपको या वेबसाइट को अच्छा बिज़नेस एक्सपोज़र मिलता है। इसलिए मुझे लगता है की Seo सबसे बढियाँ और बेस्ट टूल है। 

Seo in hindi – What is seo in hindi ?

आप अभी तक समझ चुके हैं की Seo kya hai ? और Seo क्यों आप के लिए इम्पोर्टेन्ट है। आप इस असंख्य वेबसाइट की भीड़ में आगे आने के लिए और अपनी वेबसाइट प्रजेंस बताने के लिए Seo करतें हैं। देखा जाय तो फायदा आपका ही होता है अगर आप रैंक में आते हो तो ऑनलाइन पर मौजूद विभिन्न प्रकार से आप वेबसाइट को मोनेटाइज कर पातें और एक्सपोज़र मिलने की वजह से आप अच्छा खासा पैसा कमाते हों। 
 
उदाहरण के तौर पर कोई शॉप खोले फिर उसमे प्रोडक्ट भरें और अगर आपने सही तरीके से प्रचार करके कुछ ऑफर देकर कस्टमर को अपनी शॉप की तरफ आकर्षित कर लेते हैं तो मुनाफ़ा आपका शत प्रतिशत बनने लगता है और आपकी शॉप पर कस्टमर की भीड़ बराबर लगी रहती है। लेकिन अगर आप advertisement या प्रचार नहीं करतें हैं या बाद में करने की सोचतें हैं तो आपका प्रोडक्ट expire अथवा outdate भी हो सकता है। 
 
इसलिए दोस्तों Seo पर जरूर  ध्यान दें इसमें आपका शत प्रतिशत फायदा है। 
 
मैंने पूरी कोशिश रही है की आप इस आर्टिकल से बहुत कुछ सीखें और अपनी वेबसाइट पर इम्प्लीमेंट करें। यह आपका बिगिनर लेवल Seo था। 
अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो सब्सक्राइब और शेयर जरूर करें जिससे आपके पास नवीनतम पोस्ट की जानकारी प्राप्त हो सके। 
 
धन्यवाद !




 
 

Leave a Reply